प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 सितंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये मध्यप्रदेश के कुछ लोगों से बात की. वो लोग, जो सड़क किनारे छोटी-मोटी दुकान चलाते हैं, कोई ठेला लगाते हैं. ये वो लोग थे, जिन्होंने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का लाभ लिया है.

पीएम स्वनिधि क्या है?

ये योजना एक जून को लॉन्च की गई थी. ताकि स्ट्रीट वेंडर्स यानी रेहड़ी-पटरी वाले दुकानदारों को आर्थिक मदद दी जा सके. ये ज़रूरी भी था क्योंकि कोविड की वजह से उनके रोजगार पर इधर बड़ी मार पड़ी थी.

क्या मदद मिलती है?

योजना के तहत रेहड़ी-पटरी वालों को 10 हजार रुपए तक का लोन मिलता है. इसे एक साल के भीतर किस्तों में चुकाना होता है. लोन देने में किसी तरह की गारंटी नहीं ली जाती है. समय से या समय से पहले लोन चुकाया तो सब्सिडी भी मिलती है. सात पर्सेंट की.

सरकार ने कितना पैसा अलग किया?

योजना शुरू करते समय सरकार का अनुमान था कि करीब 50 लाख लोगों को इसका लाभ मिलेगा. पांच हजार करोड़ रुपए इस योजना के लिए दिए गए. फिलहाल ये योजना मार्च-2022 तक के लिए उपलब्ध है. पहले फेज़ में 125 शहरों का योजना के लिए चयन किया गया है.

कौन आवेदन कर सकता है?

आवेदन करने के लिए दो पैमाने हैं –

# ग्रामीण/शहरी क्षेत्र के वे सभी वेंडर्स, जो शहरी स्थानीय/निकायों के क्षेत्र में बिक्री करते हैं.

# ऐसे वेंडर्स, जिनके पास इन चार में से कोई एक डॉक्यूमेंट हो –

1. सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग

2. विक्रेता पहचान पत्र

3. प्रॉविजनल सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग

4. लेटर ऑफ रेकमेंडेशन

ये डॉक्यूमेंट सरकारी दफ्तर से बनवा भी सकते हैं.

कैसे आवेदन कर सकते हैं?

https://pmsvanidhi.mohua.gov.in/

ये वेबसाइट है. इसपर जाते ही आपको होम पेज पर Apply For Loan का ऑप्शन दिखेगा. यहां से अप्लाई कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *